सरकार का नया फरमान : दलित शब्द कहने पर लगेगा प्रतिबंध

इस शब्द के उपयोग से अछूतों के आंदोलनों में बडी संख्या में अन्य पिछडा वर्ग के लोग भी शामिल हो जाते हैं, जिससे उनकी ताकत बढ जाती है। अगर इन्हें अनुसूचित जाति के नाम से संबोधित किया जाए तो इनके आंदोलन कमजोर हो जाएंगे। फारवर्ड प्रेस की रिपोर्ट :

फुले, आंबेडकर की आवाज हैं दलित, रोकने की हो रही है साजिश

केंद्र सरकार ‘दलित’ शब्द को प्रतिबंधित करने के लिए हरसंभव कदम उठाने जा रही है। इसके लिए विभिन्न न्यायालयों के आदेश व सरकार द्वारा 1990 में जारी एक परिपत्र को हवाला दिया जा रहा है।

इसका अर्थ यह है कि आने वाले समय में सरकारी दस्तावेजों में ‘दलित’ शब्द का उपयोग नहीं हो सकेगा। सरकार इस तबके के लोगों को ‘अनुसूचित जाति’ कहकर संबोधित करेगी। इसका एक दूरगामी परिणाम यह होगा कि ‘दलित साहित्य’ समेत दलित विषयक विभिन्न अवधारणाओं पर आयोजन, शोध आदि के लिए सरकारी फंड नहीं मिलेगा। सरकारी फंड तभी मिलेगा, जब इस प्रकार की परियोजनाएं ‘अनुसूचित जाति’ के रूप में संबोधित की जाएंगी।

पूरा आर्टिकल यहां पढें सरकार का नया फरमान : दलित शब्द कहने पर लगेगा प्रतिबंध

 

Tags:

About The Author

Reply