author

Abdul Bari Siddiqui

कर्पूरी ठाकुर को जैसा मैंने देखा : अब्दुलबारी सिद्दीकी (अंतिम भाग)
‘दो परिस्थितियों में आम आदमी का चरित्र सामने आता है। एक तो तब जब आदमी बड़ा होता है...
कर्पूरी ठाकुर को जैसा मैंने देखा : अब्दुलबारी सिद्दीकी (दूसरा भाग)
विरले ही राष्‍ट्रीय स्तर का कोई ऐसा नेता होगा, जिसने अपने नाम से ऐसा दरखास्त लिखा होगा। यह...