दिल्ली विश्वविद्यालय में याद किये गए वी पी सिंह

सामाजिक न्याय के अग्रदूत पिछड़ों के मसीहा पूर्व प्रधानमन्त्री विश्वनाथ प्रताप सिंह की पुण्यतिथि 27 नवम्बर को दिल्ली विश्वविद्यालय के विधि संकाय में अखिल भारतीय असमानता विरोधी मंच के तत्वावधान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया

नई दिल्ली : सामाजिक न्याय के अग्रदूत पिछड़ों के मसीहा पूर्व प्रधानमन्त्री विश्वनाथ प्रताप सिंह की पुण्यतिथि 27 नवम्बर को दिल्ली विश्वविद्यालय के विधि संकाय में अखिल भारतीय असमानता विरोधी मंच के तत्वावधान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में प्रो. हंसराज सुमन ने कहा कि सामाजिक न्याय की लड़ाई गली-मोहल्लों से लेकर शिक्षण संस्थानों तक चलनी चाहिए। सूरज यादव ने कहा कि वी पी सिंह जैसे महापुरुषों, जिन्होनें आरक्षण को सामाजिक न्याय के हथियार बतौर प्रयुक्त किया, के कारण आज दलित-पिछडे वर्गों के विद्यार्थी, जिन्हें पढऩे-लिखने तक का अधिकार नहीं था, उच्च पदों पर पहुँच रहे हैं। कार्यक्रम में आल इंडिया बैकवर्ड स्टूडेंट्स फोरम के अध्यक्ष जीतेंद्र यादव, डॉ. प्रवेश, मो. अबू तारिक, सूरज मंडल, सतेन्द्र ठाकुर, आदि ने भी अपनी बात रखी। अध्यक्षीय वक्तव्य प्रो.के.पी. सिंह यादव ने दिया और मंच संचालन रतन कुमार ने किया। कार्यक्रम के आयोजन में विधि विभाग, दिल्ली विश्वविद्यालयछात्र, यूनियन के अध्यक्ष बृजेश यादव, चंद्रप्रकाश कपूर, उपेन्द्र कुमार व धर्मवीर यादव गगन की प्रमुख भूमिका रही। इनके अतिरिक्त जगदीश सौरभ राम, इकबाल आशीष मगन व हरमिंदर सिंह भी कार्यक्रम में उपस्थित थे।

 

(फारवर्ड प्रेस के जनवरी, 2015 अंक में प्रकाशित)


फारवर्ड प्रेस वेब पोर्टल के अतिरिक्‍त बहुजन मुद्दों की पुस्‍तकों का प्रकाशक भी है। एफपी बुक्‍स के नाम से जारी होने वाली ये किताबें बहुजन (दलित, ओबीसी, आदिवासी, घुमंतु, पसमांदा समुदाय) तबकों के साहित्‍य, सस्‍क‍ृति व सामाजिक-राजनीति की व्‍यापक समस्‍याओं के साथ-साथ इसके सूक्ष्म पहलुओं को भी गहराई से उजागर करती हैं। एफपी बुक्‍स की सूची जानने अथवा किताबें मंगवाने के लिए संपर्क करें। मोबाइल : +919968527911, ईमेल : info@forwardmagazine.in

About The Author

Reply