कुमार समीर की रिपोर्ट

सरकारी आश्वासन से नहीं मान रहे रिसर्च स्काॅलर्स, ट्विटर पर चलाया अभियान

[फारवर्ड  प्रेस भारत के  सामाजिक व सांस्कृतिक रूप से दबाए गए तबकों – यथा, अन्य पिछडा वर्ग, अनुसूचित जनजातियों, विमुक्त घुमंतू जनजातियों, धर्मांतरित अल्पसंख्यक से संबंधित मुद्दों को आवाज देने लिए प्रतिबद्ध है। यह एक द्विभाषी (अंग्रेजी-हिंदी) वेबसाइट है। अर्थात्, इसपर प्रकाशित हर सामग्री को हम हिंदी व अंग्रेजी – दोनों भाषाओं में प्रकाशित करते हैं, ताकि इन सामग्रियों को यथासंभव देश-व्यापी पाठक वर्ग मिल सके।

फारवर्ड प्रेस के इस अभियान के सुचारू रूप से संचालन के लिए ऐच्छिक रूप से योगदान करने के इच्छुक अनुभवी अनुवादकों का  स्वागत है।

उपरोक्त सामग्री अभी सिर्फ हिंदी में उपलब्ध है। अगर आप इसका अंग्रेजी अनुवाद करना चाहते हैं तो कृपया संपर्क करें। गुणवत्तापूर्ण अनुवादों को हम आपके नाम के साथ प्रकाशित करेंगे।  Email : editor@forwardpress.in]

 

About The Author

Reply