author

Braj Ranjan Mani

जाति व्यवस्था के लिए औपनिवेशिक शासकों पर दोषारोपण : ब्राह्मणवादी झूठ को औचित्यपूर्ण ठहराना है
ब्राह्मण समाजशास्त्री जी.एस. घुर्ये के जाति, राजनीति और उपनिवेशवाद के मुद्दों पर प्रतिगामी परिप्रेक्ष्य के प्रभाव में कई...
Caste blame game on colonialism: Rationalization of a brahmanic lie
It was brahman sociologist G.S. Ghurye’s regressive perspective on caste, politics and colonialism that guided Bernard Cohn and...
जाति व्यवस्था के लिए औपनिवेशिक शासकों पर दोषारोपण : ब्राह्मणवादी झूठ को औचित्यपूर्ण ठहराना है
ब्राह्मण समाजशास्त्री जी.एस. घुर्ये के जाति, राजनीति और उपनिवेशवाद के मुद्दों पर प्रतिगामी परिप्रेक्ष्य के प्रभाव में कई...
Caste blame game on colonialism: Rationalization of a brahmanic lie
It was brahman sociologist G.S. Ghurye’s regressive perspective on caste, politics and colonialism that guided Bernard Cohn and...
The silencing of an Ambedkarite
Apparently, in his short life, Rohith had faced and suffered many cruel slings and arrows of life. Yet...
खामोश हो गया एक आंबेडकरवादी
अपने छोटे से जीवन में रोहित को असंख्य क्रूर व्यंग्यबाणों का सामना करना पड़ा। परंतु इसके बाद भी...
नवीकृत फुले-आंबेडकरवाद की आवश्यकता
दलित बहुजनों का सशक्तिकरण तबतक संभव नहीं है जब तक कि फुले और आंबेडकर की मुक्तिदायिनी विचारधारा का...
Renewed Phule-Ambedkarism needed now
Critical empowerment will elude the Dalitbahujans unless they reconstruct the emancipatory ideology of Phule and Ambedkar