अयोध्या पर क्यों है बौद्ध धर्मावलम्बियों का अधिकार? जानें याचिकाकर्ता विनीत कुमार मौर्य की जुबानी

अयोध्या, उत्तर प्रदेश के निवासी विनीत कुमार मौर्य ने यह दावा किया है कि विवादित जमीन की जब खुदाई हो रही थी तब जो अवशेष मिले थे, वे बुद्ध से जुड़े व सम्राट अशोक के समकालीन थे। सुप्रीम कोर्ट में इनके द्वारा याचिका की सुनवाई को स्वीकृति मिल गयी है। पढ़ें विनीत कुमार मौर्य से एक्सक्लूसिव साक्षात्कार का संपादित अंश :

काल्पनिक गाथाओं पर नहीं, खुदाई के दौरान मिले साक्ष्यों पर सुलझे अयोध्या विवाद

अयोध्या में मंदिर-मस्जिद विवाद के बीच एक तीसरा पक्ष भी उठ खड़ा हुआ है जो विवादित स्थल पर मंदिर, मस्जिद की बजाय बौद्ध स्मारक बनाए जाने की मांग कर रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस आशय की याचिका को स्वीकार कर लिया है और आगामी 3 जनवरी 2019 को सुनवाई के दौरान इस पर भी विचार किया जाएगा। आइए जानते हैं, इस संबंध में याचिकाकर्ता विनीत कुमार मौर्य से कि उनके दावे की बुनियाद क्या है।

पूरा आर्टिकल यहां पढें अयोध्या पर क्यों है बौद्ध धर्मावलम्बियों का अधिकार? जानें याचिकाकर्ता विनीत कुमार मौर्य की जुबानी

Tags:

About The Author

Reply