author

Anil Kumar

अकुशल मजदूरों से कम तनख्वाह पाते हैं दिल्ली विश्वविद्यालय के अतिथि शिक्षक
बीते 27 जनवरी, 2021 को दिल्ली विश्वविद्यालय के अतिथि शिक्षकों ने भूख हड़ताल करने का प्रयास किया। लेकिन...
समतावादी थी भारत लेनिन जगदेव प्रसाद की राष्ट्र संंबंधी अवधाराणा
डॉ. भीमराव आंबेडकर का कहना सही था कि भारत एक राष्ट्र न होकर कई राष्ट्र हैं। भारत की...
जेएनयू में सीआरपीएफ : दलित-बहुजनों के ज्ञान सृजन पर हमला
बीते 4 नवंबर को जेएनयू में सीआरपीएफ के जवानों को बुलाया गया। इसके पीछे वजह यह रही कि...
न्यायपालिका के लोकतांत्रीकरण की तेज होती मांग
समाज के किसी भी वर्ग के नौजवान प्रतियोगिता परीक्षाओं के जरिए आईएएस और आईपीएस बन सकते हैं। लेकिन...
More posts