author

Kanwal bharti

भगत सिंह की दृष्टि में ‘अछूत’ और उसकी पृष्ठभूमि
वास्तव में भगत सिंह की प्रशंसा होनी चाहिए कि उन्होंने एक बड़ी आबादी को अछूत बनाकर रखने के...
दलित नजरिए से भगत सिंह की शहादत के मायने
निस्संदेह विचार के स्तर पर भगत सिंह और उनके साथी उस दौर के सबसे प्रखर समाजवादी चिंतक कहे...
मोदी और उनके अनुयायियों का झूठ बनाम सच
सवाल यह है कि मोदी और उनके अनुयायी किसे बेवकूफ बना रहे हैं? क्या जनता जानती नहीं है...
हिंदी दलित कथा-साहित्य के तीन दशक : एक पक्ष यह भी
वर्तमान दलित कहानी का एक अश्वेत पक्ष भी है और वह यह कि उसमें राजनीतिक लेखन नहीं हो...
Ambedkar the democrat shone in the making of the Indian Constitution
Unlimited powers were not vested in the Indian president. Instead, it was Parliament which was vested with all...
संविधान-निर्माण में डॉ. आंबेडकर की भूमिका
भारतीय संविधान के आलोचक, ख़ास तौर से आरएसएस के बुद्धिजीवी डॉ. आंबेडकर को संविधान का लेखक नहीं मानते।...
दलित स्त्री विमर्श पर दस्तक देती प्रियंका सोनकर की किताब 
विमर्श और संघर्ष दो अलग-अलग चीजें हैं। पहले कौन, विमर्श या संघर्ष? यह पहले अंडा या मुर्गी वाला...
Narendra Modi is following in Pushyamitra Shunga’s footsteps, but who will stop him?
A recent statement by SP national chief Akhilesh Yadav that on coming to power they would build grand...
More posts