h category

सम-सामयिकी

पसमांदा अब राजनीतिक ब्रांड, संघ प्रमुख कर रहे राजनीति
“अहम बात यह है कि पसमांदा समाज किसी भी तरह की सांप्रदायिक राजनीति को या उसके विचार को नही मान सकता है। इसलिए ये नई तरह की राजनीति जो भाजपा कर रही है, वह इस...
बहस-तलब : दलितों की भागीदारी के बगैर द्रविड़ आंदोलन अधूरा
तमिलनाडु में ब्राह्मण और गैर-ब्राह्मण की पूरी बहस में दलित हाशिए पर हैं। क्या यह बहस दलित बनाम गैर-दलित नहीं होनी चाहिए और उस परिपेक्ष्य के अनुसार दलितों की स्थिति का आकलन नहीं किया जाना...
आज 149वें सत्यशोधक दिवस से ForwardPress.in नए कलेवर में
आज सत्यशोधक समाज की स्थापना की 149वीं वर्षगांठ पर फारवर्ड प्रेस, जो स्वयं को फुले और सत्यशोधक समाज की विरासत का भाग मानती है और सत्य की खोज के उनके आदर्श का अनुसरण करने का...
दबंगई छोड़ कबीर-रैदास को अपनाएं, तेजस्वी यादव ने दी अपने नेताओं को सलाह
तेजस्वी ने अपने दल के नेताओं को समझाते हुए कहा कि वे अपने आचरण में कबीर और रैदास की शिक्षा का पालन करें। उन्होंने कबीर के पद का उद्धरण देते हुए कहा कि ताड़-खजूर का...
जातिवाद की बीमारी से कब उबरेंगे देश के मेडिकल कॉलेज?
डा. किरीत प्रेमजी भाई सोलंकी के नेतृत्व वाली संसदीय कमेटी की रपट के मुताबिक सामाजिक तौर पर उत्पीड़ित...
छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट को दलितों, आदिवासियों और ओबीसी के लिए 58 फीसदी आरक्षण पर ऐतराज
छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश अरूप कुमार गोस्वामी और न्यायमूर्ति पीपी साहू की खंडपीठ ने राज्य सरकार के...
मोदी के जन्मदिन के मौके पर दलितों के लिए ‘भ्रमजाल’
केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर में धारा 370 और 35ए हटाये जाने से...
अखबारों में ‘सवर्ण आरक्षण’ : रिपोर्टिंग नहीं, सपोर्टिंग
गत 13 सितंबर, 2022 से सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ईडब्ल्यूएस आरक्षण की वैधता को लेकर...
और आलेख