author

Devendra Sharan

पुरुषोत्तम अग्रवाल के कबीर
इतिहास लेखन से पहले इतिहासकार क्या लिखना चाहता है, उसकी परिकल्पना कर लेता है और अपनी परिकल्पना के...
दलित पैंथर : जिसका नाम सुनते ही फड़कने लगती थीं असंख्य भुजाएं
दलित पैंथर आंदोलन की शुरुआत 29 मई, 1972 को हुई और तीन साल के भीतर इसके नाम अनेक...
आंबेडकर, जिन्होंने इतिहास की टूटी कड़ियों को जोड़ा
डॉ. आंबेडकर की इतिहास की दृष्टि विश्व समेत भारत के इतिहास की घटनाओं का समुचित आकलन करने में...
जयपाल सिंह मुंडा : झारखंड के उपेक्षित ‘मारंग गोमके’
एक महान आदिवासी नेता, झारखंड आंदोलन को बेहतर नेतृत्व देने वाला नेता और एक महान खिलाड़ी जिसके नेतृत्व...
Jogendra Nath Mandal’s relentless struggle for the rights of the historically deprived
It was amid the socio-cultural struggles initiated by the Matua religion that Jogendra Nath Mandal was born. He...
जोगेन्द्रनाथ मंडल : हार नहीं माननेवाले अदम्य साहसी दलित
जिन्ना के भाषण से जोगेन्द्रनाथ मंडल को संभवतः इतमीनान हुआ होगा और फिर जोगेन्द्रनाथ मंडल को श्रम और...
जोगेन्द्रनाथ मंडल : हार नहीं माननेवाले अदम्य साहसी दलित
जिन्ना के भाषण से जोगेन्द्रनाथ मंडल को संभवतः इतमीनान हुआ होगा और फिर जोगेन्द्रनाथ मंडल को श्रम और...
और आलेख