वरिष्ठ पत्रकार व लेखक राजकिशोर को पुत्र शोक

बीते 22 अप्रैल 2018 को वरिष्ठ लेखक व सुपरिचित पत्रकार राजकिशोर के पुत्र विवक राज का निधन हो गया। इस दुखद घड़ी में फारवर्ड प्रेस परिवार शोक-संतप्त परिवार के साथ है

हिंदी के सुपरिचित पत्रकार और लेखक  श्री राजकिशोर के पुत्र विवेक राज का 22 अप्रैल की सुबह 6.30 पर निधन हो गया।

विवेक (40 वर्ष) एक सजग पत्रकार और फिल्म तथा वृत्त चित्र निर्माता थे। उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत बीबीसी से की थी। बीबीसी में रहते हुए उन्होंने 3 वर्ष तक बीजिंग में काम किया। वे लगभग 12 वर्ष तक बीबीसी में कार्य करते रहे, जहाँ से दक्षिण एशिया के ब्यूरो से सेवानिवृत्त हुए। उसके बाद वे अमेरिका के सब से लोकप्रिय टीवी चैनल एबीसी के साथ जुड़े और स्वतंत्र रूप से भी काम करते रहे। वे बिल गेट्स की स्वच्छता से संबंधित एक बड़ी परियोजना में काम कर रहे थे।

बेटी एज्मे के साथ विवेक राज की तस्वीर

विवेक की पत्नी थिया एवांस लंदन की एक अंतरराष्ट्रीय कला कंपनी की भारतीय डाइरेक्टर हैं। उनकी बेटी एज्मे आठ वर्ष की और बेटा रेक्स छह वर्ष का है।

विवेक की स्मृति में एक स्मृति-सभा का आयोजन  मंगलवार 24 अप्रैल 2018 को शाम पाँच बजे इंडियन एक्सप्रेस अपार्टमेंट्स, मयूर कुंज, चिल्ला रेगुलेटर, दिल्ली 110096 के सभागार में किया जाएगा।

दुख की घड़ी में फारवर्ड प्रेस परिवार राजकिशोर जी के शोक-संतप्त परिवार के साथ है।


फारवर्ड प्रेस वेब पोर्टल के अतिरिक्‍त बहुजन मुद्दों की पुस्‍तकों का प्रकाशक भी है। एफपी बुक्‍स के नाम से जारी होने वाली ये किताबें बहुजन (दलित, ओबीसी, आदिवासी, घुमंतु, पसमांदा समुदाय) तबकों के साहित्‍य, सस्‍क‍ृति व सामाजिक-राजनीति की व्‍यापक समस्‍याओं के साथ-साथ इसके सूक्ष्म पहलुओं को भी गहराई से उजागर करती हैं। एफपी बुक्‍स की सूची जानने अथवा किताबें मंगवाने के लिए संपर्क करें। मोबाइल : +919968527911, ईमेल : info@forwardmagazine.in

फारवर्ड प्रेस की किताबें किंडल पर प्रिंट की तुलना में सस्ते दामों पर उपलब्ध हैं। कृपया इन लिंकों पर देखें :

बहुजन साहित्य की प्रस्तावना 

महिषासुर एक जननायक’

महिषासुर : मिथक व परंपराए

दलित पैंथर्स : एन ऑथरेटिव हिस्ट्री : लेखक : जेवी पवार 

जाति के प्रश्न पर कबी

चिंतन के जन सरोकार

 

About The Author

Reply