एससी/एसटी एक्ट में सुधार न होने पर होगा बड़ा आंदोलन : चिराग

दलित सेना ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण कानून में सुधार के लिए केंद्र सरकार से अध्यादेश जारी करने की मांग की है। लोजपा संसदीय बोर्ड अध्यक्ष चिराग पासवान और दलित सेना अध्यक्ष एवं सांसद राम चंद्र पासवान ने ऐसा न करने पर सरकार को आंदोलन की धमकी दी है

उच्चतम न्यायालय के एक फैसले से अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार निवारण कानून के कमजोर होने का हवाला देते हुए लोक जनशक्ति पार्टी से जुड़ी दलित सेना ने सरकार से इसमें सुधार के लिए जल्द से जल्द अध्यादेश जारी करने की मांग की है। दलित सेना ने कहा है कि अगर ऐसा नहीं किया गया तो 9 अगस्त से पूरे देश में बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

लोजपा के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान अपने पिता व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के साथ

इस बारे में दलित सेना के अध्यक्ष एवं सांसद राम चंद्र पासवान और लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि कई दलित संगठनों ने इस कानून को कमजोर किए जाने के खिलाफ आंदोलन की घोषणा की है और उनके संगठन पर भी आंदोलन में शामिल होने का दबाव है।

हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि चालू मानसून संसद सत्र के दौरान केंद्र सरकार अध्यादेश नहीं ला सकती, इसलिए वह 7 अगस्त को मानसून सत्र समाप्त कर, 8 अगस्त को अध्यादेश जारी करे। दोनों नेताओं ने कहा कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति कानून के कुछ प्रावधानों को लेकर उच्चतम न्यायालय ने गत 20 मार्च को एक फैसला दिया था, जिससे यह कानून कमजोर हुआ है। इससे दलित समुदाय में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि इस फैसले को देने में शामिल एक न्यायाधीश को राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण का अध्यक्ष बना दिया गया है, जिससे लोगों में और आक्रोश बढ़ गया है। उन्होंने संबंधित न्यायाधीश को न्यायाधिकरण के अध्यक्ष पद से हटाने की भी मांग भी की।

(कॉपी एडिटर : नवल)


फारवर्ड प्रेस वेब पोर्टल के अतिरिक्‍त बहुजन मुद्दों की पुस्‍तकों का प्रकाशक भी है। एफपी बुक्‍स के नाम से जारी होने वाली ये किताबें बहुजन (दलित, ओबीसी, आदिवासी, घुमंतु, पसमांदा समुदाय) तबकों के साहित्‍य, सस्‍क‍ृति व सामाजिक-राजनीति की व्‍यापक समस्‍याओं के साथ-साथ इसके सूक्ष्म पहलुओं को भी गहराई से उजागर करती हैं। एफपी बुक्‍स की सूची जानने अथवा किताबें मंगवाने के लिए संपर्क करें। मोबाइल : +917827427311, ईमेल : info@forwardmagazine.in

फारवर्ड प्रेस की किताबें किंडल पर प्रिंट की तुलना में सस्ते दामों पर उपलब्ध हैं। कृपया इन लिंकों पर देखें 

बहुजन साहित्य की प्रस्तावना 

दलित पैंथर्स : एन ऑथरेटिव हिस्ट्री : लेखक : जेवी पवार 

महिषासुर एक जननायक’

महिषासुर : मिथक व परंपराए

जाति के प्रश्न पर कबी

चिंतन के जन सरोकार 

About The Author

Reply