राष्ट्रीय समिति की बैठक में शोषित समाज दल ने किया बदलाव का आह्वान

राष्ट्रीय समिति की दो दिवसीय बैठक में शोषित समाज दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुनीराम शास्त्री ने कहा कि देश में सिद्धांतविहीन राजनीति के कारण दिनोंदिन स्थिति बिगड़ती जा रही है। उन्होंने भाजपा का नाम लिए बगैर कहा कि समाज में धर्मांधता को बढ़ावा दिया जा रहा है

आज देश बदहाली के राह पर अग्रसर है। खासकर मौजूदा सरकार द्वारा जिस तरह की कार्रवाईयां की जा रही हैं, उनसे न केवल अर्थ-व्यवस्था बल्कि समाज में अस्थिरता का माहौल बनता जा रहा है। यह सब इस कारण से हो रहा है क्योंकि देश में सिद्धांतविहीन राजनीति की जा रही है। इसका एकमात्र समाधान शोषित समाज दल की सैद्धांतिक राजनीति है जिसकी बुनियाद अमर शहीद जगदेव ने 1972 में रखी थी। ये बातें शोषित समाज दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुनीराम शास्त्री ने बीते 7-8 दिसंबर 2018 को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के दारूलसफा में आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय समिति की बैठक को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने बैठक के दौरान राजनीतिक प्रस्तावों की चर्चा करते हुए कहा कि आज देश में लोकतंत्र पर खतरा है। केंद्र सरकार की नीतियों के कारण सीबीआई जैसी संस्थाओं की साख गिरी है। हालत यह हो गई है कि आज ऐसी कोई संस्था नहीं रह गई है जिसपर जनता विश्वास कर सके। वहीं बजाय इसके कि हालत में सुधार हो, सरकार तानाशाही पर उतर गई है। उन्होंने कहा कि धर्म संसद द्वारा सरकार और न्यायालय पर दबाव बनाया जा रहा है कि कानून को ताक पर रखकर अयोध्या में मंदिर निर्माण कराया जाय। यह लोकतंत्र पर गहरा आघात है।

शोषित समाज दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रघुनीराम शास्त्री

रघुनीराम शास्त्री ने बुलंदशहर में अखलाक हत्याकांड की जांच कर रहे इंस्पेक्टर सुबोध सिंह हत्या की घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि मुसलमानों की रोजी-रोटी को छीना जा रहा है। इसके अलावा सवर्णों के धार्मिक आयोजनों में सरकारी खजाने का दुरूपयोग किया जा रहा है। इससे देश में सामाजिक अस्थिरता की स्थिति बनती जा रही है।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जानबूझकर अर्थ-व्यवस्था को बदहाली के कगार पर ला दिया है। नोटबंदी और जीएसटी से देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गयी है। महंगाई से गरीब जनता बुरी तरह परेशान है। उन्होंने कहा कि इसका प्रमाण सरकारी आंकड़े ही देते हैं। विकास दर 8.8 प्रतिशत से घटकर 6.1 प्रतिशत हो गया है। यह इस बात का परिचायक है कि किस प्रकार की नीतियां देश में लागू की जा रही हैं।

रघुनीराम शास्त्री ने आह्वान करते हुए कहा कि आज जो देश में स्थितियां हैं, उसके पीछे सिद्धांतविहीन राजनीति है। इसका समाधान शोषित समाज दल के मूल्याधारित राजनीति ही है।

यह भी पढ़ें : आंखन देखी : जब जगदेव बाबू ने कहा – सौ में नब्बे भाग हमारा है

बैठक में आह्वान किया गया कि 13 जनवरी 2019 को शोषित समाज दल के भूतपूर्व पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. जयराम सिंह का दूसरा परिनिर्वाण दिवस समारोह मनाया जाएगा। यह आयोजन पटना के पालीगंज स्थित उनकी जन्मभूमि पैग्ंबरपुर गांव में होगी। साथ ही इस बात की घोषणा भी की गयी कि दल के राष्ट्रीय समिति की बैठक 2-3 फरवरी 2019 को बिहार के अरवल जिले के कुर्था में होगी।

बैठक को समिति के सदस्य रामचंद्र वर्मा, विश्वनाथ साह, लौटन प्रसाद, उषा शरण, डॉ. सेवाराम पटेल, रामदुलार मौर्य, कमलेश कुमार मौर्य के अलावा आमंत्रित सदस्य जमील अहमद, आद्याशरण चौधरी, सेवानिवृत्त जज डॉ. सी. पी. सिंह, रामदास बौद्ध और अखिलेश्वर प्रसाद सिंह सहित अनेक गणमान्य लोगों ने संबाेधित किया।

(कॉपी संपादन : एफपी डेस्क)


फारवर्ड प्रेस वेब पोर्टल के अतिरिक्‍त बहुजन मुद्दों की पुस्‍तकों का प्रकाशक भी है। एफपी बुक्‍स के नाम से जारी होने वाली ये किताबें बहुजन (दलित, ओबीसी, आदिवासी, घुमंतु, पसमांदा समुदाय) तबकों के साहित्‍य, सस्‍क‍ृति व सामाजिक-राजनीति की व्‍यापक समस्‍याओं के साथ-साथ इसके सूक्ष्म पहलुओं को भी गहराई से उजागर करती हैं। एफपी बुक्‍स की सूची जानने अथवा किताबें मंगवाने के लिए संपर्क करें। मोबाइल : +917827427311, ईमेल : info@forwardmagazine.in

फारवर्ड प्रेस की किताबें किंडल पर प्रिंट की तुलना में सस्ते दामों पर उपलब्ध हैं। कृपया इन लिंकों पर देखें 

बहुजन साहित्य की प्रस्तावना 

दलित पैंथर्स : एन ऑथरेटिव हिस्ट्री : लेखक : जेवी पवार 

महिषासुर एक जननायक’

महिषासुर : मिथक व परंपराए

जाति के प्रश्न पर कबी

चिंतन के जन सरोकार

About The Author

Reply