छपरा में बड़ी संख्या में दलित-पिछड़ों ने किया बौद्ध धर्म स्वीकार

बिहार के छपरा जिले में बीते 14 अक्टूबर को बड़ी संख्या में दलितों-पिछड़ों ने बौद्ध धर्म स्वीकार कर लिया। यह इसलिए भी खास है क्योंकि हाल के वर्षों में दलितों पर अत्याचार के कई मामले प्रकाश में आये हैं। फारवर्ड प्रेस की खबर :

बीते 14 अक्टूबर 2018 को बिहार के छपरा जिले में दो हजार से अधिक दलित-पिछड़ों ने बौद्ध धर्म स्वीकार किया। यह घटना छपरा जैसे जिले के लिए कई मायनों में खास है। मसलन छपरा वर्तमान में लालू प्रसाद के अवसान के बाद भाजपा का गढ़ बन चुका है। साथ ही हाल के वर्षों में इस जिले में दलित उत्पीड़न के कई मामले सामने आये हैं। इसी वर्ष अप्रैल में मशरख प्रखंड के डूमरसन चौक पर सामंती विचारधारा के लोगों ने बाबा साहब डाॅ. भीमराव आंबेडकर की प्रतिमा को खंडित कर दिया था। इसके ठीक पहले मार्च में भी इसी तरह की एक घटना मढ़ौरा प्रखंड कार्यालय के समीप घटित हुई थी।

पूरा आर्टिकल यहां पढें छपरा में बड़ी संख्या में दलित-पिछड़ों ने किया बौद्ध धर्म स्वीकार

 

 

 

 

 

About The Author

Reply